Megamenu

प्रधानमंत्री कौशल केंद्र (पीएमकेके)

पृष्ठभूमि

कौशल विकास और उद्यमशीलता मंत्रालय (एमएसडीई) ने “कुशल भारत मिशन” के अंतर्गत भारत के प्रत्येक जिले में अत्याधुनिक, विजिबल, आकांक्षीय मॉडल प्रशिक्षण केंद्र स्थापित करने की पहल की है। इन मॉडल प्रशिक्षण केंद्रों को "प्रधानमंत्री कौशल केंद्र" (पीएमकेके) के नाम से जाना जाता है।

पीएमकेके नियोजनीयता पर ध्यान देने के साथ-साथ उच्च गुणवत्ता वाले उद्योग-आधारित पाठ्यक्रम चलाने और कौशल विकास प्रशिक्षण के लिए एक आकांक्षीय मूल्य सृजित करने में सक्षम हैं। पीएमकेके अल्पावधि प्रशिक्षण ईकोसिस्टम को अनिवार्य संचालन वितरण मॉडल से एक स्थायी संस्थागत मॉडल में बदलने की कल्पना करता है।

पीएमकेके की स्थापना के लिए निवेश सहायता प्रदान की जाती है। एनएसडीसी प्रति पीएमकेके अधिकतम 70 लाख रुपए तक के सुरक्षित ऋण के रूप में वित्तीय सहायता प्रदान करता है।

वित्तीय सहायता, कैपेक्स सहायता (पूंजीगत सहायता) (उपयोग नहीं किया जाएगा/अचल संपत्ति के सृजन हेतु) के लिए प्रदान की जाती है, जिसमें निम्नलिखित घटक शामिल होते हैं:


i. मशीनरी और उपकरणों की खरीद सहित प्रशिक्षण अवसंरचना

ii. प्रशिक्षण सहायता और अन्य संबंधित मदें

iii. केंद्र का आंतरिक साज-सज्जा

 

पीएमकेके की मुख्य विशेषताएं

  • केंद्र का आकार: निर्मित क्षेत्र 3000 वर्ग फुट - 8000 वर्ग फुट (जिले की जनसंख्या के आधार पर)
  • सभी केंद्रों में मानकीकृत बाह्य और आंतरिक ब्रांडिंग और अवसंरचनात्मक आवश्यकताएं
  • स्थानीय युवाओं की महत्वाकांक्षाओं के लिए जिले की जनसंख्या पर आधारित पाठ्यक्रम
  • स्मार्ट क्लासरूम, दृश्य-श्रव्य प्रशिक्षण उपकरण, बायोमेट्रिक उपस्थिति
  • समर्पित परामर्श, जुटाव और नियोजन प्रकोष्ठ
  • पीएमकेवीवाई दिशानिर्देशों के अनुसार आवासीय सहायता
  • पीएमकेवीवाई दिशानिर्देशों के अनुसार, विनिर्माण ट्रेडों में अनिवार्य प्रशिक्षण

अद्यतन स्थिति (मई 2020)

  • भारत के 707 जिलों और 540 संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों (पीसी) को कवर करते हुए 36 राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों में 812 पीएमकेके आवंटित किए गए हैं।
  • 812 आवंटित पीएमकेके में से 738 पीएमकेके स्थापित कर दिए गए हैं।
  • 738 स्थापित पीएमकेके में से, 122 पीएमकेके (कवर 113 जिले) आकांक्षीय जिलों में स्थापित हैं, 102 पीएमकेके (89 जिलों को कवर करते हुए) वाम पक्ष उग्रवाद प्रभावित जिलों में स्थापित हैं, 22 पीएमकेके (21 जिलों को कवर करते हुए) जम्मू-कश्मीर के जिलों में स्थापित हैं और 67 पीएमकेके (67 जिलों को कवर करते हुए) पूर्वोत्तर जिलों में स्थापित हैं।
  • पीएमकेके को कॉर्पोरेट श्रेणी, सेक्टर-विशिष्ट (विमानन, कृषि और बंदरगाह और समुद्री, आदि), विशेष श्रेणियों जैसे महिलाओं, दिव्यांगों (पीडब्ल्यूडी) के अंतर्गत भी स्थापित किया गया है।
  • इसके अलावा, 58 जिलों को कवर करने वाले शेष 74 पीएमकेके की स्थापना का कार्य चल रहा है।

अधिक जानकारी के लिए https://www.nsdcindia.org/pmkk.देंखे।